Motivation Topic | दैनिक सुविचार-33 | Spread Positivity

Motivation Topic | दैनिक सुविचार-33 | Spread Positivity

Motivation Topic | दैनिक सुविचार-33 | Spread Positivity
Motivation Topic | दैनिक सुविचार-33 | Spread Positivity

शब्द ब्रह्म है। भारतीय दर्शनों में शब्द को उत्तम प्रमाण माना गया है। इस संदर्भ में एक अत्यंत प्रचलित कथा का उल्लेख करना यहां युक्तिसंगत होगा। कथा इस प्रकार है:- Motivation Topic | दैनिक सुविचार-33 | Spread Positivity 

दस व्यक्तियों ने बरसाती नदी पार की। पार पहुंचने पर यह जांचने के लिए कि दसों ने नदी पार कर ली है, कोई नदी में डूब तो नहीं गया, एक ने गिनना शुरू किया। उसके अनुसार उनका एक साथी नदी में बह गया था। एक-एक करके सभी ने गिनती की, प्रत्येक का यही मानना था कि कोई एक बह गया है। सभी उस दसवें व्यक्ति के लिए रोने और विलाप करने लगे।

वहां से गुजर रहे एक बुद्धिमान व्यक्ति ने जब उनसे रोने तथा विलाप करने का कारण पूछा, तो उन्होंने उसे सारी बात कह सुनाई। उस व्यक्ति ने उनको एक पंक्ति में खड़ा होने को कहा। जब सब पंक्ति में खड़े हो गए, तब उनमें से एक को बुलाकर उसने गिनने को कहा। उस व्यक्ति ने नौ तक गिनती गिनी और चुप हो गया। तब आगंतुक ने कहा, ‘दसवें तुम हो।’ इतना सुनते ही सारा रोना-विलाप करना अपने आप, बिना किसी प्रयास के समाप्त हो गया। उस आगंतुक ने क्या किया? उसके शब्दों ने ही रोने-बिलखने को विदाई दिलवा दी।

ऐसे एक नहीं अनेक उदाहरण आपको मिल जाएंगे, जिनसे इस बात की पुष्टि होगी कि एक वाक्य ने किसी की जीवनधारा ही बदल दी।

पाठकों, आज के इस लेख में हम बहुत से ऐसे अनमोल विचारों को आपके साझा कर रहे हैं जो आपके जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लायेंगे। हम रोजाना एक ऐसे अनमोल सुविचारों पर आधारित लेख “अनमोलसोच डॉट इन” पर प्रकाशित करते हैं, जो विभिन्न महापुरुषों के द्वारा कहा गया है। आशा करता हूँ आज का यह लेख आपको पसंद आएगा। ऐसे ही लेखों को पढने के लिए आप Bell notification को जरुर ऑन कर लें। अगर आप एक टेलीग्राम यूजर हैं तो हमारे टेलीग्राम चैनल से भी जुड़ सकते हैं, जहाँ आपको दैनिक सुविचार पर आधारीर Images मिलते रहेंगे।


  • कोई जरूरी तो नहीं कि हर बार शरीर की जांच में हिमोग्लोबिन, कैल्शियम, विटामिन या अन्य मिनरल्स ही घटते हों।
    कभी व्यक्तित्व की रिपोर्ट भी करवा कर देखनी चाहिए, क्या पता- दया, करुणा, मानवता, दोस्ती या इंसानियत भी घट रही हो।।

→अज्ञात

  • दान देने से धन में कमी नहीं आती। जिस प्रकार नदी का पानी पीने से कम नहीं हो जाता।

→कबीर

  • दान यदि निर्धनों को दिया गया, तभी दान है, वरना वह उधार देने के समान है।

→तिरुवल्लुवर

  • दान सत्कार से दो, अपने हाथ से दो, हृदय से दो एवं दोष रहित दान दो।

→गौतम बुद्ध

  • दुःख के बारे में आठ व्यक्ति अनभिज्ञ रहते हैं- राजा, वेश्या, यमराज, अग्नि, चोर, बालक, भिक्षुक और चुगलखोर।

→चाणक्य

  • दान हृदय का कमाल है, हाथों का नहीं।

→एडीसन

आप पढ़ रहे हैं:- Motivation Topic | दैनिक सुविचार-33 | Spread Positivity 

  • दानी व्यक्ति वही है जो उसकी प्रसिद्धि नहीं चाहता। दुःखों में घिरा व्यक्ति नए-नए दुःख पाता है।

→प्रेमचंद

  • जैसे लगी हुई चोट पर बार-बार चोट लगती है।

→पंचतंत्र

  • दुःख भोगने से ही सुख के का ज्ञान होता है। मूल्य

→शेख सादी

  • दुष्ट, सज्जनों को सहन नहीं कर पाते, जैसे बाजारू कुत्ते शिकारी कुत्तों को देख कर भौंकते हैं, किंतु पास जाने का साहस नहीं कर पाते।

→शेख सादी

  • दुःखी वह है जो आंसू बहाता है क्योंकि व्यस्त व्यक्ति तो दुःख में भी आंसू नहीं बहाता ।

→बायरन

  • दुःख के पश्चात आने वाला सुख ज्यादा आनंद देता है, जैसे धूप से जले हुए को वृक्ष की शीतलता शांति देती है।

→कालिदास

  • दुःख में जो उपाय किए जाते हैं, यदि वह सुख के समय ही किए जाते तो दुःख की सृष्टि ही नहीं होती।

→कबीर

  • दुःख से मुक्त होने का एकमात्र उपाय यह है कि उसका चिंतन छोड़ दिया जाए।

→वेदव्यास

  • दुःख और सुख दोनों को ईश्वरीय प्रसाद मानकर स्वीकार किया जाए तो दुःख का अस्तित्व ही समाप्त हो जाएगा।

→जैनेन्द्र कुमार

  • दुःख का एक क्षण एक युग की भांति प्रतीत होता है।

→शेक्सपीयर

  • दुःख में लंबाई होती है और सुखी में गहराई नहीं होती। जिन्हें हम सुखी कहते हैं, वह हमेशा छिछले होते हैं। जो लोग दुःख से गुजरते हैं, उनकी आंखों और जीवन में गहनता होती है। दुःख हमारे गुणों को मांजता है और दुःख में भी आनंद मनाते रहने की शिक्षा देता है।

→आचार्य रजनीश

  • दुष्ट मनुष्यों को सज्जन बनाने के लिए इस पृथ्वी पर कोई उपाय नहीं है, जैसे मल त्याग करने वाली इंद्रियों को सौ-सौ बार धोएं, पर वह अन्य इंद्रियों की तरह शुद्ध नहीं। हो सकतीं।

→चाणक्य

  • दुष्ट लोग अपने दोष के संबंध में • जन्मजात अंधे होते हैं, लेकिन दूसरों के दोष देखने में दिव्य दृष्टि रखते हैं। ऐसे लोग अपने गुण का वर्णन गला फाड़कर करते हैं और दूसरे की प्रशंसा के समय मौन धारण कर लेते हैं।

→माघ

  • दुष्ट और सांप में सांप फिर भी अच्छा है, क्योंकि वह काल के आदेशवश काटता है, पर दुष्ट तो सदैव ही काटता रहता है।

→अज्ञात

  • दुष्ट व्यक्ति बैर करने वाले से भी बैर करते हैं और भलाई करने वाले से भी।

गोस्वामी तुलसीदास

आप पढ़ रहे हैं:- Motivation Topic | दैनिक सुविचार-33 | Spread Positivity 

  • दुर्भाग्य को भाग्य में पुरुषार्थी ही बदल सकता है।

→अज्ञात

  • दुर्जन विद्वान हो, तब भी उसका त्याग कर दें। क्योंकि मणि से अलंकृत सर्प भी भयंकर होता है।

→भर्तृहरि

  • दुर्भाग्य के समय शत्रु को मित्र, मित्र को शत्रु और शुभ को अशुभ माना जाने लगता है।

→विष्णु शर्मा

  • दुर्भाग्य उन द्वारों से प्रविष्ट होते हैं जिन्हें हम खुला छोड़ देते हैं।

→चीनी कहावत

  • दुर्भाग्य की सभी किस्में एक ही ढेर में रखी जाएं और उनमें से चुनाव करना पड़े तो अधिकांश व्यक्ति अपना ही हिस्सा लेकर विदा हो जाएंगे।

→सुकरात

  • दुर्भाग्य से त्रस्त मनुष्य प्राप्त वस्तु को भी प्राप्त नहीं कर पाता।

→भारवी

  • दर्शन शास्त्र की आवश्यकता तब पड़ती है जब चली आ रही परंपराएं विश्वास के योग्य नहीं रहतीं और नई नीतियों की आवश्यकता महसूस होती है।

→राधाकृष्णन

  • दुःख में एक-एक क्षण भी व्यतीत करना संसार के संपूर्ण सुखों से कहीं बढ़कर है।

→हाफिज

  • दुःखी सुख चाहता है। सुखी अधिक सुख चाहता है। लेकिन दुःख के प्रति उपेक्षा भाव रखकर सबसे ज्यादा सुख पाया जा सकता है।

→अज्ञात

  • देवत्व रखने वाला मानव वह है जिसके हृदय में दैवी गुण प्रकट होते हैं।

→अज्ञात

  • दूसरों की त्रुटियां सुनकर प्रसन्न होने वाला अपनी बुराइयां सुनकर विक्षुब्ध होगा।

→अज्ञात

आप पढ़ रहे थे:- Motivation Topic | दैनिक सुविचार-33 | Spread Positivity 


प्रिय पाठकों, आशा करता हूँ आपको यह लेख पसंद आया  होगा। हम आगे भी ऐसे ही लेख हर रोज आपके लिए लाते रहेंगे। अगर आप भी लिखने के शौक़ीन हैं और अपने विचार दुनिया के कोने कोने तक पहुँचाना चाहते हैं तो आप इस वेबसाइट के द्वारा पहुंचा सकते हैं। अपने लेखों को आप हमारे ईमेल पता पर भेज सकते हैं। हमारा ईमेल पता हैं :- [email protected] 


आप इसे भी यहाँ पढ़ सकते हैं:- 

  1. Redeem Garena | 25-26 दिसम्बर 24 hrs Valid रिडीम कोड | गरेना फ्री फायर रिडीम कोड
  2. 21 Tips to Build a Successful Life | आज ही जान लो
  3. उपदेश पर महापुरुषों के अनमोल विचार | Quotes on preaching in Hindi
  4. गुरु गोबिंद सिंह के 41 अनमोल वचन | Guru Gobind Singh Quotes

आपके  महुमुल्य समय के लिए धन्यवाद्!

Rate this post
Sharing Is Caring:

नमस्कार दोस्तों, मैं "Raju Kumar Yadav" Blogger, Content Writer, Web Developer और YouTuber हूँ। आप हमारे इस ब्लॉग पर इनफार्मेशनल, प्रसिद्ध हस्तियाँ, मनोरंजन, सेहत और सुंदरता आदि पर आधारित लेखों को पढ़ सकते हैं।


Leave a Comment