Quotes on merits and demerits in Hindi | मनुष्य के गुण-अवगुण पर अनमोल सुविचार

मनुष्य के गुण-अवगुण पर अनमोल सुविचार | Quotes on merits and demerits in Hindi

Quotes on merits and demerits in Hindi | मनुष्य के गुण-अवगुण पर अनमोल सुविचार
Quotes on merits and demerits in Hindi | मनुष्य के गुण-अवगुण पर अनमोल सुविचार

नमस्कार पाठकों, आज के इस लेख में हम गुण-अवगुण पर आधारित कुछ विशेष अनमोल सुविचारों को आपके साथ शेयर कर रहा हूँ। आशा करता हूँ आपके ये सभी अनमोल सुविचार बेहद पसंद आयेंगे। ऐसे ही और लेखों की जानकारियां पाने के लिए आप “अनमोलसोच डॉट इन” का बिलकुल फ्री सब्सक्रिप्शन ले सकते हैं। इसके अलावा अगर आप एक टेलीग्राम उपभोक्ता हैं तो आप आप हमारे टेलीग्राम चैनल से भी जुड़ सकते हैं। यहाँ आपको सभी नए लेखों की जानकारी के साथ नए सुविचार भी पढ़ने को मिल जायेंगे। इस लेख के अंत में आप अपनी प्रतिक्रिया कमेंट बॉक्स में जरुर लिखें। Quotes on merits and demerits in Hindi

 

  • जो वीरता से भरा हुआ है, जिसका नाम लोग बड़े गौरव से लेते हैं, शत्रु भी जिसके गुणों की प्रशंसा करते हैं, वही पुरुष वास्तव में पुरुष है।

-गणेश शंकर विद्यार्थी

  • जो मनुष्य अपनी उन्नति चाहता है, उसे चाहिए कि वह दूसरों के गुण देखने की आदत डाले और स्वयं पर लागू करे।

-अज्ञात

  • जहां बहुत से गुण हों वहां यदि एक आध अवगुण भी आ जाए, तो उसका वैसे ही पता नहीं चल पाता जैसे चंद्रमा की किरणों में उसका कलंक।

-कालिदास

  • जो मानव अपने अवगुण व दूसरों के गुण देखता है, वही महान मानव बन सकता है।

-सुकरात

  • गुणवान व्यक्ति दूसरे की गलतियों से अपनी गलती सुधारते हैं।

-साइरस

  • जो मनुष्य धनवान बनना चाहता हो, उसे चाहिए कि निद्रा, तन्द्रा, भय, क्रोध, आलस्य और ढिलाई इन छह दोषों को त्याग दे।

-नारायण पंडित

  • गुण और ज्ञान पाने के पश्चात इस जगत में कोई भी झंझट शेष नहीं रह जाता।

-ओशो

आप पढ़ रहे हैं: मनुष्य के गुण-अवगुण पर अनमोल सुविचार | Quotes on merits and demerits in Hindi 

  • गुणवान होने के लिए विनम्रता, • जिज्ञासा और सेवा को अपने व्यवहार में सम्मिलित करना चाहिए। तब हमें अमिट ज्ञान की प्राप्ति होगी।

-श्रीमद्भगवद्गीता

  • गुण और ज्ञान वही सिद्ध हैं, जिससे मनुष्यता का भला होता हो।

-महात्मा गांधी

  • गुण को यदि प्रभावी गुणात्मकता के साथ प्रस्तुत किया जाए तो सभी सहमत हो जाते हैं। असहमत मूर्खों की जरूरत भी नहीं होती।

-विवेकानंद

  • गुणवान व्यक्ति के लिए इस संसार में बहुत कम वस्तुएं दुर्लभ रह पाती हैं।

-शुद्रक

  • गुणवान व्यक्ति को ज्ञान के विषय में स्वावलंबी होना चाहिए।

-विनोबा भावे

  • गुणवान व्यक्ति जब अनुचित झूठ नहीं बोलता तो उसे धर्म की कोई आवश्यकता नहीं होती।

-तिरुवॉल्लुअर

  • गुणवान को अपने गुणों के लिए | प्रमाण देने की आवश्यकता नहीं होती। जिस प्रकार कस्तूरी को अपनी उपस्थिति प्रमाणित करने की आवश्यकता नहीं पड़ती।

-बोस्टन

  • गुणवान में गुण के अलावा कुछ नहीं देखा जाता।

-प्रेमचंद

  • गुण सब स्थानों पर अपना आदर करा लेता है।

-कालिदास

आप पढ़ रहे हैं: मनुष्य के गुण-अवगुण पर अनमोल सुविचार | Quotes on merits and demerits in Hindi 

  • गुण तो आदमी उसमें देखता है, जिसके साथ जन्म भर निर्वाह करना हो।

-प्रेमचंद

  • गुणीजनों के लिए कुछ भी असंभव नहीं है।

-शूद्रक

  • गुणरहित नाम कितना निरर्थक होता है।

-होमर

  • गुणवान से उसकी जाति नहीं पूछी जाती।

प्रेमचंद

गुरु के दुर्गुण त्यागो, शत्रु के गुण ग्रहण करो।

-अज्ञात

  • किसी वस्तु के दोष के कारण उसके गुणों को ग्रहण न करना मूर्खता है।

-अज्ञात

  • किसी के गुणों को गाने में अपना समय नष्ट करने के बजाय उसे अपनाने में समय लगाओ।

-कार्ल मार्क्स

  • गुणवान व्यक्ति की परीक्षा धन से नहीं सद्गुण और शीलता से होती है, जिस प्रकार घोड़ा अपनी साज सज्जा से नहीं बल्कि ताकत और दौड़ने के गुण से जाना जाता है।

-सुकरात

आप पढ़ रहे हैं: मनुष्य के गुण-अवगुण पर अनमोल सुविचार | Quotes on merits and demerits in Hindi 

  • ऊंचाई से ही नीचे गिरा जाता है। अतः अपनी कमजोरियों को नीचे ही छोड़ दो, वरना वही तुम्हें नीचे धकेल देंगी।

-चाणक्य

  • उनके लिए कुछ दुष्कर नहीं, जो गुणवान हैं।

-शूद्रक

  • आप ख्याति बढ़ाना चाहते हैं तो यह नौ गुण अपना लीजिए- बुद्धि, इंद्रिय निग्रह, कुलीनता, पराक्रम, शास्त्र ज्ञान, मौन, दान और कृतज्ञता। विदुर नीति । आपका सब स्थानों पर आदर होगा, यदि आप गुणवान हैं।

-कालिदास

  • ईर्ष्या करने वाले का सबसे बड़ा शत्रु उसकी ईर्ष्या ही है । दूसरे शत्रु उसका अहित करने से रह जाएं, परंतु ईर्ष्या उसे हानि पहुंचा कर ही रहती है।

-ओशो

  • अंधा वह नहीं है जिसकी आंखें जाती रहीं, अपितु अंधा वह है जो अपनी कमियों को छिपाता है।

-गांधी

  • अपना ही दोष ढूंढ़ निकालना ज्ञानवीरों का काम है।

-विवेकानंद


प्रिय पाठकों, आशा करता हूँ आपको यह लेख पसंद आई होगी। हम आगे भी ऐसे ही लेख हर रोज आपके लिए लाते रहेंगे। अगर आप भी लिखने के शौक़ीन हैं और अपने विचार दुनिया के कोने कोने तक पहुँचाना चाहते हैं तो आप इस वेबसाइट के द्वारा पहुंचा सकते हैं। अपने लेखों को आप हमारे ईमेल पता पर भेज सकते हैं। हमारा ईमेल पता हैं :- [email protected]


आप इसे भी पढ़ सकते हैं:-

अनुभव पर 31 अनमोल सुविचार | 31 Priceless thoughts on experience

विनम्रता पर सुविचार | Priceless thoughts on humility or Politeness

परिश्रम पर धाकड़ अनमोल सुविचार | Priceless Quotes based on hard work

Quotes on Knowledge & Ignorance in Hindi

धन्यवाद्!

Rate this post
Sharing Is Caring:

नमस्कार दोस्तों, मैं "Raju Kumar Yadav" Blogger, Content Writer, Web Developer और YouTuber हूँ। आप हमारे इस ब्लॉग पर इनफार्मेशनल, प्रसिद्ध हस्तियाँ, मनोरंजन, सेहत और सुंदरता आदि पर आधारित लेखों को पढ़ सकते हैं।


Leave a Comment